धर्म

धर्म
एक ऐसा शब्द जिसके सुनते ही हमारे हृदय में एक आलोकिक अनुभूति का आभास होता है
धर्म यदि मानव के उद्धार के लिए है तो निश्चय ही इसका पालन करना चाहिए
यदि धर्म मानव जाति के लिए खतरा बन जाए तब क्या किया जाए इसका उत्तर कोई नहीं देता..

No comments:

Post a Comment